ढूंढे
अवधि
दिनांक  से
दिनांक  का
पुरालेख
   
शीघ्र लिंक
 फेमा
 प्रारूप अधिसूचनाएं/दिशानिर्देशिका
 भारतीय रिज़र्व बैंक के परिपत्रों की सूची
 मास्टर परिपत्र
 पेंशन
होम >> अधिसूचनाएं - देखें
 
एमएसएमई पर प्रधानमंत्री की उच्च स्तरीय टास्क फोर्स की सिफारिशें

भारिबैं/2009-10/510
ग्राआऋवि.एसएमइ एंड एनएफएस.सं.बीसी-90/06.02.31/2009-10

29 जून 2010

अध्यक्ष/प्रबंध निदेशक/मुख्य कार्यपालक अधिकारी
सभी अनुसूचित वाणिज्य बैंक

महोदय

एमएसएमई पर प्रधानमंत्री की उच्च स्तरीय टास्क फोर्स की सिफारिशें

माइक्रो, लघु और मध्यम उद्यम (एमएसएमई) क्षेत्र को उधार पर मास्टर परिपत्र के पैरा 1.3 और पैरा 2.1.3 में निहित वर्तमान अनुदेशों  के अनुसार बैंकों को यह सुनिश्चित करने हेतु सूचित किया गया है कि :

(क) एमएसई क्षेत्र हेतु नियत कुल अग्रिम का 40 प्रतिशत ऐसे माइक्रो (विनिर्माण) उद्यम जिनका संयंत्र और मशीनरी में 5 लाख रूपये तक का निवेश हो, तथा ऐसे माइक्रो (सेवा) उद्यम जिनका उपस्कर में 2 लाख रूपए तक का निवेश हो, को दिया जाना चाहिए ;

(ख) एमएसई क्षेत्र के लिए नियत कुल अग्रिम का 20 % ऐसे माइक्रो (विनिर्माण) उद्यम जिनका संयंत्र और मशीनरी में किया गया निवेश 5 लाख रूपए से अधिक और 25 लाख रूपए तक हो, तथा माइक्रो (सेवा) उद्यम जिनका उपस्कर में किया गया निवेश 2 लाख रूपए से अधिक और 10 लाख रूपए तक हो, को दिया जाना चाहिए । (इस तरह लघु उद्यम अग्रिमों का 60% माइक्रो उद्यमों को जाना चाहिए)

2. भारत सरकार द्वारा गठित माइक्रो और मध्यम उद्यम (एमएसएमई) पर प्रधानमंत्री के टास्क फोर्स (अध्यक्ष : श्री टी.के.ए.नायर) की सिफारिशों के अनुसार बैंकों को निम्नानुसार सूचित किया गया है :

i. ऋण उपलब्धता में वृद्धि सुनिश्चित करने हेतु माइक्रो और लघु उद्यम को ऋण में 20 प्रतिशत की वर्षानुवर्ष संवृद्धि प्राप्त करना ;

ii. माइक्रो उद्यमों को एमएसई अग्रिम का 60% का आबंटन चरणों में प्राप्त किया जाए अर्थात् वर्ष 2010-11 में 50%, वर्ष 2011-12 में 55% तथा वर्ष 2012-13 में 60% और

iii. माइक्रो  उद्यम खातों की संख्या में 10% वार्षिक संवृद्धि प्राप्त करना ।

3. साथ ही, यह सूचित किया जाता है कि बैंकों को विभिन्न एमएसई समूहों में अधिक एमएसई सकेंद्रित शाखा कार्यालय खोलने चाहिए जो एमएसई के लिए परामर्शी केन्द्र के रूप में भी कार्य कर सकें । जिला के प्रत्येक अग्रणी बैंक कम से कम एक एमएसई समूह को अपना सकते हैं ।

4. कृपया आप इस संबंध में कड़ाई से अनुपालन हेतु अपने नियंत्रक कार्यालयों / शाखाओं को उचित अनुदेश जारी करें तथा जुलाई 2010 तक की गई कार्रवाई प्रस्तुत करें ।

5. कृपया प्राप्ति सूचना दें ।

भवदीय

(बी.पी.विजयेन्द्र)
मुख्य महाप्रबंधक

 
 
भारतीय रिज़र्व बैंक सभी अधिकार आरक्षित
आइई 5 और ऊपर के लिए 1024 x 768 रिजोल्यूशन में उत्कृष्ट अवलोकन